HomeदेशMember of parliament आदर्श ग्राम योजना के लिये अलग से बजट का...

Member of parliament आदर्श ग्राम योजना के लिये अलग से बजट का प्रावधान

Member of parliament सांसद आदर्श ग्राम योजना के लिये अलग से बजट का प्रावधान 

 

आबूरोड। राज्यसभा Member of parliament सांसद नीरज डाँगी ने राज्य सभा में शून्यकाल के दौरान अक्टूबर 2014 में लागू की गई प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के तहत सांसद द्वारा प्रतिवर्ष गोद लिये जाने वाली ग्राम पंचायत को मॉडल ग्राम पंचायत के रूप में विकसित करने हेतु अलग से बजट प्रावधान किये जाने की सदन में मांग उठाई डाँगी ने सदन में बोलते हुए कहा कि धन की कमी के चलते प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना की क्रियान्विति नहीं होने का मुद्दा उठाते हुए सदन को अगवत कराया कि भारत सरकार द्वारा अक्टूबर, 2014 में प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना की शुरूआत की गई थी।

जिसके तहत प्रत्येक Member of parliament सांसद को प्रति वर्ष एक ग्राम पंचायत को गोद लेकर मॉडल ग्राम पंचायत के रूप में विकसित करना है, लेकिन इस योजना के तहत ग्राम पंचायत को विकसित करने के लिए कोई अतिरिक्त बजट का प्रावधान नहीं किया गया है। उन्होंने योजना पर विस्तृत चर्चा करते हुए ग्रामीण विकास मंत्रालय (Ministry of Rural Development) द्वारा Common Review Mission & CRM के तहत इस योजना में करवाये गये अध्ययन की ओर ध्यान आकर्षित किया कि अध्ययन के अनुसार योजना का वर्तमान प्रारूप वांछित उद्देश्यों को प्राप्त करने में सक्षम नहीं है तथा धन की कमी के चलते ग्रामीण अवसंरचना पर इस योजना का कोई महत्त्वपूर्ण प्रभाव दिखाई नहीं दिया है।

इस अध्ययन टीम में सेवानिवृत्त नौकरशाह, शिक्षाविद, और विभिन्न अनुसंधान संगठनों के सदस्य शामिल हैं। Member of parliament सांसद डाँगी ने कहा कि ऐसी परिस्थिति में मौजूदा योजना के प्रारूप में खामियों की वजह से पिछड़े इलाकों में आधारभूत सुविधाएं मुहैया कराना मुश्किल साबित हो रहा है। जब तक इसके प्रारूप में बदलाव नहीं किया जाता, सांसदों के लिए गांव गोद लेना संभव नहीं हो पा रहा है। सांसदों के एम. पी. लैंड फंड से सम्पूर्ण संसदीय क्षेत्र के साथ-साथ एक ग्राम पंचायत विशेष को विकसित कर मॉडल ग्राम पंचायत बनाना परिकल्पना मात्र है |

यही कारण है कि देश की 2 लाख 55 हजार ग्राम पंचायतों में से अब तक योजना के पाँच चरणों के तहत सांसदों द्वारा केवल 1855 ग्राम पंचायतों का चयन किया गया है। यदि भारत सरकार सही मायने में इस तरह से ग्राम पंचायत का विकास चाहती है तो सबसे पहले एक आदर्श गांव का मॉडल डिजाइन तैयार कर उसके अनुसार इस योजना के लिए अलग बजट का प्रावधान करने की आवश्यकता है जिससे प्रत्येक Member of parliament सांसद प्रतिवर्ष एक ग्राम को गोद लेकर विकसित कर सके। सांसद डांगी ने सरकार से आग्रह किया है कि इस योजना की क्रियान्वन पर गंभीरता से ध्यान दिया जाए ताकि गांधी जी के सपनों के अनुरूप एक आदर्श भारतीय ग्राम की कल्पना पूरी हो सके।

लोकेशन आबूरोड।
दिनेश  राजस्थान

 

यह भी पढ़े:-https://sathyaapkesamane.com/one-day-cricket-tournament-concludes/

यह भी पढ़े:-https://sathyaapkesamane.com/union-minister-workers-warmly-welcomed/

यह भी पढ़े:-https://sathyaapkesamane.com/big-action-by-police-against-cyber-criminals/

यह भी पढ़े:- Bolero का नया अवतार देगा स्कॉर्पियो को कड़ी टक्कर, दमदार फीचर्स के साथ जल्द होने वाली है लॉन्च

यह भी पढ़े:- Mahindra Thar : पैनोरमिक सनरूफ के साथ भारत की पहली थार

यह भी पढ़िए | भारत में लॉन्च  Jeep Meridian SUV, मिलेंगे कई शानदार फीचर्स

यह भी पढ़े :- जबरदस्त अंदाज में होगी नई Mahindra Scorpio की एंट्री, इसी महीने लॉन्च होगी SUV

यह भी पढ़े:- 32 km/kg तक का शानदार माइलेज देती है ये शानदार CNG कारें, कीमत है 6 लाख रुपए से कम

यह भी पढ़े:- Maruti Alto 800 कार सिर्फ 50000 रुपये में घर ले जाये , जानिए कहां से और कैसे

यह भी पढ़े:- आसान ईएमआई के साथ 1.9 लाख रुपये में Maruti Swift खरीदें, 7 दिन की मनी बैक गारंटी

 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़  के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Youtube से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप को Twitter पर फॉलो करें
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप ShareChat पर फॉलो करें
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Daily Hunt पर फॉलो करें
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Koo पर फॉलो करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments